होम लोन क्या है | होम लोन के नियम | होम लोन कितने प्रकार के होते हैं?

आज के इस महगाई दौर के चलते है कई कामो के लिए हमे बैंक से ऋण लेना पड़ता है चाहे वो पर्सनल लोन्स, होम लोन्स, कॉर्पोरेट लोन्स, एजुकेशन लोन्स, व्हीकल लोन्स, के अलावा भी कई प्रकार के लोन्स होते है लेकिन इस लेख में हम आपको बताएंगे की होम लोन क्या है. होम लोन के नियम. होम लोन कितने प्रकार के होते हैं. इन सभी प्रश्नो के उत्तर इस लेख में जानेगे।

होम लोन वर्तमान समय में बहुत पॉपुलर हो चूका है अधिकतर व्यक्ति होम लोन्स लेने का प्रयास करते है और वो होम लोन्स लेकर अपने घर कर कंट्रक्शन, रेनोवेशन, या किसी अन्य कार्य को उस रकम से पूरा करते है और उस लोन रकम को बैंक को किस्तों में ब्याज दर के साथ रीपेमेंट करते है जिसमे उधारकर्ता को कोई खास परेशानी नहीं होती है आसानी से उस उधारकर्ता का काम भी पूरा हो जाता है और बैंक के द्वारा लिया गया ऋण भी आसानी वापस हो जाता है।

होम लोन आप बैंक या किसी फाइनेंस कंपनी से ले सकते है जो की बड़ी आसानी से ये सस्थाए लोन मुहैया करवा देती है सभी बैंक और फाइनेंस कंपनी का अलग अलग ब्याज दर तय होता है उसी पर उधारकर्ता को ऋण दिया जाता है उसके साथ साथ इन सभी संस्थाओ और बैंको के अलग अलग नियम और शर्ते होती है जिसे उधारकर्ता को मानना पड़ता है।

मकान बनाने के लिए लोन अधिकतर व्यक्ति बैंक से होम लोन्स लेते है ताकि अपने घर को अच्छा सा डिज़ाइन दे सके अच्छा घर बनवा सके बने घर को अपग्रेड कर सके रेनोवेशन कार्य करवा सके इन सभी कार्य के लिए बैंक लोन्स मुहैया करवाता है इसके बदले में बैंक या फाइनेंस कंपनी उधारकर्ता के प्रॉपर्टी के कागजात को सिक्योरिटी के लिए रखती है।

होम लोन क्या है?

home-loan-kya-hai

Home Loan अधिकतर लोग घर बनवाने फ्लैट खरीदने घर बढ़ाने घर में रेनोवेशन का काम कराने या फिर घर रिपेयर करनवाने और नया लुक देने के लिए होम लोन लिया जाता है होम लोन अधिकतर बैंक और ऋण देनी कम्पनिया के द्वारा मुहैया करवाया जाता है लेकिन सभी के नियम और शर्ते अलग अगल होती है सभी के ब्याज दर में भी अंतर होता है इसलिए किसी भी बैंक से लोन लेने से पहले इन सभी शर्तो का ख्याल रखना ज़रूरी होता है।

होम लोन के नाम पर बैंक या ऋण देने वाली कंपनी उधारकर्ता को कुछ राशि मुहैया करवाती है जिससे उधारकर्ता अपने घर में किसी प्रकार का कार्य करवा सके नया घर बनवा सके फ्लैट खरीद सके या किसी अन्य प्रकार का घर में काम करवा सके तो बैंक इसके लिए रकम मुहैया करवाती है उसे होम लोन कहते है यह लोन्स उधारकर्ता के क्षमता के ऊपर निर्भर करता है।

उधारकर्ता अपने क्षमता के मुताबिक होम लोन्स ले सकता है इसमें उधारकर्ता का मानसिक आय खर्च और परिजनों की कमाई सम्पत्ति देनदारी आदि देखि जाती है बैंक आपके आय पर एक नजर डालता है की आप कितना अधिक अपने वेतन से बचत करते है जितना अधिक आय में से आप बचत करेंगे उतना अधिक आप बैंक से लोन प्राप्त कर पाएंगे।

होम लोन लेने के लिए प्रॉपर्टी के पेपर उधारकर्ता के पहचान का प्रूफ और कुछ ज़रूरी दस्तावेज होने आवश्यक है इसलिए आप इन सभी दस्तावेज को तैयार करके ही बैंक से लोन लेने के लिए प्रयास करे यह सारे दस्तावेज अधिकतर व्यक्ति के होते है क्योकि बैंक की सेवा लेने के लिए ये दस्तावेज हमेशा मागे जाते है।

और पढ़े..

होम लोन कितने प्रकार के होते हैं?

प्रश्न है होम लोन्स के प्रकार की तो आइये जानते है होम लोन तो कई प्रकार के होते है।

होम कंट्रक्शन लोन :- कई बार नया घर बनवाने के लिए पैसे नहीं होते है या कम होते है तो इस अवस्था में आप होम कंट्रक्शन लोन ले सकते है और अपना नया घर बनवा सकते है।

प्रॉपर्टी खरीद लोन :- हर किसी की खुवाहिश होती है अपना किसी अच्छे जगह पर जमीन हो और उस पर घर बनाकर रह सके लेकिन कई लोगो के पास इतने पैसे नहीं होते है की अपनी मन चाही प्रॉपर्टी को आसानी से खरीद सके इसके लिए आपको बैंक का सहारा लेना चाहिए बैंक आपको लोन मुहैया करवाता है लोन लेकर आप भूमि खरीद सकते है।

रेनोवेशन लोन :- यदि आपका घर काफी पुराना हो चूका है और आप इस घर में रेनोवेशन का काम कराना चाहते है तो आपको बैंक से लोन मिल जायेगा फिर आपको घर में रेनोवेशन करवाने में आसानी होगी।

फ्लैट खरीद लोन :- अगर आप अपने सपनो का घर खरीदना चाहते है और आपके पास पैसो की कमी है तो भी आप लोन लेकर अपने सपनो का घर खरीद सकते है फिर किस्तों में चुकाकर इस ऋण को अदा कर सकते है।

जॉइंट होम लोन :- इस प्रकार के लोन में दो से अधिक लोग मिलकर जॉइंट होम लोन लेते है।

होम लोन बैलेंस ट्रांसफर :- आप अपनी बकाया राशि को दूसरे लैंडर के साथ स्विच कर सकते है इसे बेहतर नियम शर्तो और ब्याज कम करने के लिए इसे यूज़ कर सकते है।

घर में कुछ नया जुड़वाने के लिए होम लोन :- अगर आपको अपने बने घर में किसी प्रकार का कोई पार्ट जोड़ना है तो आप यह लोन ले सकते है और अपने घर के कामो को पूरा करवा सकते है।

इसके अतिरिक्त भी होम लोन्स कई प्रकार के होते है जो आपको कई अलग अलग बैंको के स्कीम में देखने को मिल जाता है इसलिए आप जिस भी कार्य के लिए लोन लेना चाहते है उसके लिए आप बैंक में जाकर बात कर सकते है।

होम लोन के नियम।

उधारतकर्ता को होम लोन्स लेने से पहले बैंक के नियमो और शर्तो को समझ लेना चाहिए।

  • होम लोन्स लेने के लिए प्रॉपर्टी के कीमत की 10 से 20 प्रतिशत तक आपको डाउन पेमेंट करना पड़ सकता है इसलिए लोन लेने से पहले आपको इतनी रकम की व्यवस्था कर लेनी है।
  • आपको ये ध्यान देना है प्रॉपर्टी की जितनी कीमत होगी उस कीमत की 80 से 90 फीसदी तक ही बैंक लोन्स दे सकता है इस लिए आपको डाउन पेमेंट के लिए इतना सुभित्ता करनी है जितना प्रॉपर्टी के कीमत का 20 फीसदी राशि निकलकर आ रहा हो।
  • होम लोन्स लेने के लिए आपको प्रॉपर्टी के कागजात सिक्योरिटी के तौर पर जमा करने पड़ सकते है।
  • किसी भी प्रॉपर्टी को खरीदते समय आपको अधिक डाउन पेमेंट करना चाहिए जिससे आपको रीपेमेंट करने में कोई कठिनाई न हो।
  • होम लोन लेने से पहले आपको बैंक के सभी शर्तो और नियमो को सही से समझ लेना चाहिए किस ब्याज दर पर बैंक पैसा देगा कितने किस्तों में बैंक को पैसो को वापस करना होगा।
  • लोन फॉर्म भरते समय फॉर्म में दस्तावेज संलग्न करने की चेक लिस्ट लगी होती है उसे आपको पढ़ना है और वो सारे दस्तावेज आपको तैयार करके उसमे जोड़ना है।
  • होम लोन में बैंक से मिलने वाली रकम उधारकर्ता को कई किस्तों में दी जाती है इसे एक साथ नहीं दिया जाता है।
  • Home Loan का ब्याज दर फिक्स्ड या फ्लेक्सिबल होता है फिक्स्ड में बैंक के द्वारा पहले से तय की हुयी ब्याज दर देनी होती है वही फ्लेक्सिबल में पहले से तय नहीं होती है ब्याज दर कम और ज्यादा हुआ करता है।
  • होम लोन के लिए इन्शुरन्स कवर भी ले सकते है इसमें आपके परिवार को राहत मिल सकता है।
  • इस लोन राशि की माहवारी किस्ते भरनी होंगी जब तक लोन रकम की चुकता न हो जाये यह पहले से पता हो जाता है किस्तों में बैंक रकम को वापस करना है।

मकान बनाने के लिए लोन।

मकान बनाने के लिए आप बैंक से लोन ले सकते है इसी विषय पर मैंने इस लेख में होम लोन क्या है. होम लोन के नियम। होम लोन कितने प्रकार के होते हैं. बताई गयी है इसे कोई भी पढ़कर आसानी से होम लोन के बारे में जानकारी ले सकता है आशा है यह लेख आपको पसंद आया होगा यदि इस लेख से जुड़ा आपका कोई प्रश्न है तो आप कमेंट बॉक्स का सहारा लेकर पूछ सकते है उसका जवाब आपको कमेंट के माध्यम से ही दिया जाएगा।

यह लेख आपको पसंद आया हो इससे सहायता मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले ताकि अधिक लोगो तक यह जानकारी पहुंच सके और होम लोन लेने वालो को यह जानकारी मिल सके।

Leave a Comment

error: Content is protected !!