क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये?

जब हम बैंक से लोन लेने के लिए जाते है तो सबसे पहले क्रेडिट स्कोर चेक किया जाता है की आवेदक का क्रेडिट स्कोर कितना है लेकिन कई बार लोगो की क्रेडिट स्कोर काफी कम होती है तो क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये? और ग्राहक अपने क्रेडिट स्कोर को कैसे सुधार सकते हैं समझाइए इस पर हम विशेष जानकारी प्राप्त करेंगे।

क्रेडिट स्कोर कम होने के कारण बैंक से लोन नहीं मिल पाता है क्रेडिट स्कोर कम होने पर बैंक या तो साफ़ मना कर देता है या फिर लोन देने में आनाकानी करता है जिससे आवेदक को लोन नहीं मिल पाता है इसी विषय पर हम लोग चर्चा करेंगे की क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ा सकते है।

क्रेडिट स्कोर के माध्यम से ही बैंक आवेदक को पहचानता है आवेदक लोन चूकाने में कैसा रहेगा क्योकि क्रेडिट स्कोर आवेदक और बैंक के बीच का व्यवहार कैसा है वो दर्शाता है की आवेदक के द्वारा पिछले लोन रकम का किस तरह से रीपेमेंट किया गया है EMI कैसे कैसे भरी गयी है इसके अलावा उधारकर्ता का बैंक के साथ व्यवहार कैसा रहा है।

अगर आप भविष्य लोन लेना चाहते है या अभी के समय लेना चाहते है तो आपको अपने क्रेडिट स्कोर का खास ध्यान रखना होगा और इसे मेन्टेन करके रखना होगा अधिकतर बैंक और फाइनेंस कम्पनिया लोन लोन देने से पहले सिबिल स्कोर और क्रेडिट स्कोर पर खास फोकस करती है जिससे आवेदक के चरित्र के बारे आसानी से पता लगाया जाता है।

क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये?

credit-score-kaise-badhaye

क्रेडिट स्कोर बढ़ाने के लिए बहुत सारे रास्ते है और इसके घटने के यानि कम होने के बीचे भी बहुत सारे कारण हो सकते है क्रेडिट स्कोर आवेदक के किसी एक चीज पर निर्भर नहीं करता है इसमें कई चीजे शामिल होती है इस पर हम एक एक करके बात करेंगे।

सिबिल स्कोर और क्रेडिट स्कोर एक ही होता है यह तीन अंत एक नंबर होता है जो 300 से 900 के बीच होता है इन्ही अंक के बीच में से कोई एक अंक आवेदक का सिबिल स्कोर हो सकता है यह सिबिल स्कोर एक सिबिल कंपनी के द्वारा मेन्टेन किया जाता है आवेदक के क्रेडिट रिपोर्ट के जरिये तैयार किया जाता है। आइये जानते वो कौन कौन से पॉइंट है जिस पर हर व्यक्ति को ध्यान देना चाहिए क्रेडिट स्कोर बढ़ने के लिए ये पॉइंट आपको ज़रूर ख्याल रखना चाहिए।

ग्राहक अपने क्रेडिट स्कोर को कैसे सुधार सकते हैं समझाइए

निचे बताये सभी पॉइंट पर ध्यान दे अकसर इन्ही चीजों के कारण क्रेडिट स्कोर और सिबिल स्कोर ख़राब होता है इसलिए आप इस पर खास ध्यान दे क्योकि ये गलतीया आपके क्रेडिट स्कोर पर काफी प्रभाव डाल सकती है।

ईएमआई का भुगतान समय पर करे

अगर आपने पहले से कोई लोन ले रखा है तो आपको उसकी ईएमआई समय पर भरनी चाहिए ईएमआई मिस करने पर या समय पर न भरने पर बैंक के द्वारा उधारकर्ता को डिफॉल्टर घोसित कर दिया जाता है अगर आप एक बार डिफाल्टर बन गए तो आपका क्रेडिट स्कोर ख़राब हो सकता है और आगे लोन लेने में काफी परेशानी आ सकती है।

क्रेडिट कार्ड का बिल ड्यू डेट पर जमा करे

यदि आप क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते है तो आपको क्रेडिट कार्ड के बिल भुगतान पर खास ध्यान देना चाहिए हर महीने आपको समय पर बिल का भुगतान कर देना चाहिए ताकि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा बना रहे है इस पर बैंक खास ध्यान देता है तो आपको भी ध्यान देना चाहिए।

क्रेडिट कार्ड का कम से कम इस्तेमाल करे ये बेहतर माना जाता है आप जितना कम से कम क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करेंगे उतना अच्छा आपके लिए होगा और क्रेडिट स्कोर के लिए होगा इसलिए आपको बहुत ही ज़रूरी काम के लिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करना है।

अनसिक्योर्ड लोन कम से कम ले

लोन दो तरीके के होते है पहला सिक्योर्ड लोन इसमें लोन रकम के बदले में उधारकर्ता को कोई सम्पति गिरवी रखनी होती है यह सिक्योर्ड लोन माना जाता है वही जिस लोन रकम के लिए कोई सम्पति गिरवी नहीं रखी जाती है उसे अनसिक्योर्ड लोन कहा जाता है इसलिए इस लोन को आप एक से अधिक बार न ले या फिर आपके क्रेडिट स्कोर के लिए दिक्कत हो सकती है।

उतना ही लोन ले जितना आप आसानी से चूका सके

कोई भी लोन ले तो जिम्मेदारी से ले जितना लोन आप चूका सकते है उतना ही लोन ले तो आपके लिए बेहतर होगा अगर लोन रकम अधिक ले लेते है तो आपके ऊपर भार भी बढ़ जाता है और लोन न चूका पाने पर क्रेडिट स्कोर भी ख़राब हो जाता है इसलिए जितना अधिक हो सके इससे बचे।

दूसरे के लोन की जिम्मेदारी लेने से बचे

कई व्यक्ति अपने प्रचित के लोन रकम की जिम्मेदारी ले लेता है और वो चूका पाने असमर्थ हो जाता है तो जिम्मेदारी वाले व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर ख़राब हो सकता है इसलिए आप ऐसी जिम्मेदारी लेने से बचे आपके लिए और क्रेडिट स्कोर के लिए काफी अच्छा रहेगा।

क्रेडिट स्कोर चेक करते रहे

आपको अपना क्रेडिट स्कोर समय समय पर चेक करते रहना चाहिए इससे आपको क्रेडिट स्कोर के बारे में पता चलता रहता है अगर क्रेडिट स्कोर ख़राब भी होता है इसके बारे में भी जानकारी प्राप्त करके इसके सुधार के लिए आप सिबिल स्कोर मेन्टेन करने वाली कंपनी से बात करके सही करवा सकते है।

कई बार क्रेडिट स्कोर गलत क्रेडिट रिपोर्ट के अनुसार आवेदक का सिबिल स्कोर कम हो जाता है तो इसका आप सुधार करवा सकते है इसके लिए आपको सिबिल कंपनी से बात करना होगा।

सिबिल स्कोर बिना व्यक्तिगत ऋण।

इस प्रश्न जवाब आपको बताते चले की बिना सिबिल स्कोर सत्यापन किये आपको व्यक्तिगत ऋण मिल पाना संभव नहीं है इसलिए लोन लेने लिए आपको सिबिल स्कोर मेन्टेन करके रखना चाहिए क्योकि लोन लेने की आवश्यकता कभी भी पड़ सकती है।

आशा है इस लेख के अंतर्गत दी गयी जानकारी क्रेडिट स्कोर कैसे बढ़ाये आपको पसंद आया होगा और इससे सम्बंधित आपको अच्छी जानकारी मिली होगी ऐसी ही जानकारी मैं इस ब्लॉग पर डेली बेसेस पर शेयर करता रहता हूँ अधिक जानकारी के लिए हमारे दूसरे लेख को पढ़ सकते है।

इस लेख से जुडी अन्य जानकारी के लिए आप कमेंट कर सकते है यह लेख कैसा लगा इसे मुझे कमेंट के माध्यम से बता सकते है इससे आपको सहायता मिला हो तो सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले ताकि अधिक लोगो तक यह लेख पहुंच सके।

Leave a Comment