वन टाइम सेटलमेंट योजना क्या है?

अगर आप ये जानना चाहते है की वन टाइम सेटलमेंट योजना क्या है लोन माफ कैसे होगा, कर्ज न चुकाने की सजा क्या है, इन सभी प्रश्न के उत्तर मैं इस लेख के माध्यम से आपको देने वाला हूँ अधिक जानकारी के लिए इस लेख को शुरू से अंत तक पढ़े इसमें इन प्रश्नो के उत्तर के अतिरिक्त इससे सम्बंधित विषय की जानकारी प्राप्त करेंगे।

बहुत उधारकर्ता यह जानना चाहते है की लोन कैसे माफ़ होता है लोन माफ़ करवाने से सम्बंधित कई प्रश्न होते है जिसमे लोग कंफ्यूज रहते है हर कोई यही चाहता है हमारा कर्ज बैंक से माफ़ हो जाये लेकिन मैं आपको बता दू सभी व्यक्तियों का कर्ज नहीं माफ़ होता है कर्ज माफ़ी गवर्नमेंट के स्कीम के माध्यम से होता है इस स्कीम के तहत बहुत सारे लोगो के कर्ज माफ़ होते है।

कई उधारकर्ता के द्वारा लिए गए लोन रकम को बैंक को रीपेमेंट करने में काफी कठिनाई आती है जिसके पीछे कई कारण हो सकते है जब उधारकर्ता के द्वारा लोन चुकाने में कठिनाई आने लगती है तो वह ऋण को माफ़ करवाने के फ़िराक में रहता है क्योकि बैंक पैसे निकालने के लिए कानूनी कार्यवाई भी शुरू कर देता है जिसमे उधारकर्ता को कोर्ट के चक्कर भी लगाने पड़ सकते है।

बैंक कर्ज तो माफ़ नहीं करेंगा जब कोई सरकारी योजना आती है जिसके तहत गरीबो के लोन को माफ़ किया जाता है अगर उधारकर्ता कर्ज माफ़ करने वाले सरकारी योजना को अवैल कर पाता है तभी बैंक उधारकर्ता का लोन माफ़ करता है अगर योजना का लाभ लेने में असमर्थ रह जाता है तो उसका ऋण माफ़ नहीं होता है।

वन टाइम सेटलमेंट योजना क्या है?

one-time-settlement-yogna-kya-hai

वन टाइम सेटेलमेंट योजना को ओटीएस भी कहते है इस योजना में बैंको से लिए ऋण रकम को बैंक को उधारकर्ता एक ही समय में देकर सेटेलमेंट करता है यानि की बैंक से लिए किसी भी प्रकार का लोन चाहे होम लोन हो, एजुकेशन लोन हो, व्हीकल लोन हो, बिज़नेस लोन हो या ने किसी अन्य प्रकार का लोन हो जिसका पेमेंट बैंक को एक बार में वापस कर देने को ही वन टाइम सेटलमेंट योजना कहते है।

बहुत सारे बैंक इस योजना को काफी प्रमोट करते है कई बैंक ओटीएस योजना में उधारकर्ता को काफी छूट देते है जो हर एक बैंक के द्वारा उधारकर्ता को दिया जाता है लेकिन यह योजना बैंक कुछ ही समय के लिए ग्राहक को देता है उसके बाद इस योजना को ख़त्म कर दिया जाता है हर एक बैंक अपने ग्राहक को इस योजना में अलग अलग लाभ और छूट देते है।

कई बार उधारकर्ता के सामने कई परेशानिया आ जाती है जैसे अच्छी खासी नौकरी छूट जाना, व्यवसाय एकदम से ठप हो जाये, आय स्रोत्र एक दम से बंद हो जाये तो उधारकर्ता के सामने बड़ी परेशानी आती है। जिसमे उधारकर्ता समय पर EMI यानि बैंक की क़िस्त को समय पर नहीं जमा कर पाता है और बैंक से बार-बार कॉल पर कॉल आती है फिर भी उधारकर्ता के सामने बड़ी समस्या होती है उसके पास रीपेमेंट करने का कोई विकल्प नहीं रहता है।

इस अवस्था में अधिकतर बैंक उधारकर्ता से सेलटेमेंट की बात करते है जिसमे बैंक 75 फीसदी या इससे कम 50 फीसदी तक बैंक ग्राहक की मजबूरी समझते हुए उसे छूट दे देता है जिसमे ग्राहक का बड़ा फायदा होता है इस तरीके से बहुत सारे उधारकर्ताओं का पैसा बच जाता है।

वन टाइम सेटलमेंट में बैंक उधारकर्ता का बड़ी छूट देकर उधारकर्ता से अधिक से अधिक पैसे निकालने के फ़िराक में रहता है वही उधारकर्ता भी अपनी होश्यारी दिखाते हुए बैंक से अधिक से अधिक छूट लेनी की बात करता है उधारकर्ता अपने जिद पर अड़कर बैंक से अधिक छूट लेकर लोन सेटलमेंट कर सकता है।

वन टाइम सेटलमेंट क्या होता है?

One Time Settlement को आप इस तरह समझे मान लीजिए आपने किसी तरह का ऋण बैंक से लिया है लेकिन आपकी आय स्रोत्र एकदम से बंद हो जाये और उसके पास कोई आय स्रोत्र न हो फिर वह असमर्थ हो जाता है ऋण का रीपेमेंट करने के लिए. उसके बाद बैंक क़िस्ते मिस होने लगती है और बैंक को ये बात पता होती है की उधारकर्ता का कोई आय स्रोत्र नहीं है तो बैंक को भी लगता है यह व्यक्ति बैंक के पुरे पैसे वापस नहीं कर पायेगा।

इसलिए बैंक या उधारकर्ता स्वम् चाहता है की वन टाइम सेटलमेंट कर ले इसमें ऋण लेने व्यक्ति को काफी छूट मिल जाती है और उसके पैसे बच जाते है और बैंक को लगता है यह व्यक्ति पैसे वापस नहीं कर पायेगा जो पैसे निकल पाए इस व्यक्ति से जल्दी से जल्दी निकल जाये इसलिए बैंक कोशिश करता है उधारकर्ता से सेटलमेंट करके ऋण की रिकवरी कर ले।

लोन माफ कैसे होगा?

अधिकतर उधारकर्ता ये चाहेंगे की बैंक से लिए लोन माफ़ हो जाये लेकिन ऐसा सभी के साथ नहीं होता है लोन अधिकतर उन व्यक्तियों का माफ़ होता है जो गरीब तबके में आते है ऋण लेने के बाद बैंक पैसे को वापस करने में काफी कठिनाई आती है जिसमें इन उधारकर्ताओं के ऋण को सरकारी योजनाओ के तहत माफ़ किया जाता है।

सरकारी योजनाओ के तहत बहुत सारे किसानो और गरीब व्यक्ति के ऋण को माफ़ किया जाता है इस योजना को जो उधारकर्ता अवैल करते है उनका ऋण बैंक से माफ़ कर दिया जाता है फिर उधारकर्ता से किसी प्रकार का बैंक लोन चुकाने के लिए नहीं कहता है लेकिन सभी उधारकर्ता के ऋण माफ़ नहीं होते है ऋण उन्ही उधारकर्ताओं के माफ़ होते है जो ऋण माफ़ी योजनाओ के काबिल होते है।

कर्ज न चुकाने की सजा।

हर एक उधारकर्ता के मन में यह डर ज़रूर रहता है की लोन न चुकाने पर सजा हो सकती है ये निर्भर करता है बैंक और उधारकर्ता के व्यवहार पर अगर उधारकर्ता बैंक के कर्मचारी से टाइम लेकर लोन चुकाने या किसी अन्य चीजों को बताकर समय लेता है तो बैंक ज़रूर उतना समय उधारकर्ता को देता है लेकिन उसके बावजूद भी उधारकर्ता लोन को जमा नहीं करता है तो बैंक कानूनी कार्यवाई कर सकता है फिर उधारकर्ता को कोर्ट कचेहरी के चक्कर लगाने पड़ सकते है।

उम्मीद करते है यहा पर दी गयी जानकारी से आप संतुष्ट होंगे आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी इसमें मैने जिक्र किया है कि वन टाइम सेटलमेंट योजना क्या है इससे उधारकर्ता कैसे फायदा उठाते है कर्ज न चुकाने की सजा क्या हो सकती है इसके अतिरिक्त भी इस लेख में इसी विषय से सम्बंधित जानकारी देने का प्रयास किया है।

इस लेख से आपका किसी प्रकार का डाउट हो प्रश्न हो तो कमेंट सेक्शन के जरिये आप अपना प्रश्न पूछ सकते है उसका उत्तर आपको उसी माध्यम से कुछ समय में दिया जायेगा इस लेख से आपको कुछ सिखने को मिला हो इससे सहायता मिला हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।

27 thoughts on “वन टाइम सेटलमेंट योजना क्या है?”

  1. Maine.hdfc.debit.kard.pe.alg.alg.6.lak.ka.lon.lia.hi.ab.lon.cuka.nhi.sakta.kIA.karu

    Reply
      • Sir
        Jese home credit se lon liye the ab uska setelment krna chahte he to un log ham logo ko lon ki ditails nhi de rhe he or na hi or ex paise jama krne bol rhe he lon ki kuch ditails nhi de rhe he to ab ham logo ko kya krna chahiye

        Reply
  2. Sir mene Indiabuls se 50000 hajar ka lon liya tha aur 31000hajar bhar bhi diya hai par 2019se job nahi raha to me kya karu

    Reply
  3. सर नमस्ते,
    सर मेरे पिताजी का sbi bank में 284000 रुपये का होम लोन है, emi भी बराबर भर रहें थे। अब 24 जनवरी 2021 को मेरे पिताजी का देहांत हो गया है। और आज की तारीख तक अब उनका लोन में 98000 रुपये बकाया है। अब हमारी आर्थिक इस्थिति भी कमजोर है, तो अब मैं मेरे पिताजी का लोन का बकाया रुपये जमा करू तो क्या मुझे उसमे OTS द्वारा कुछ फायदा हो सकता है क्या । कृपया मुझे जानकारी देवे।
    नाम विकास दाधिच
    मो.7568248048

    Reply
    • सर आप बैंक के शाखा मैनेजर से एक बार कंसल्ट कर लीजिये इस विषय पर ज़रूर कोई कोई न सलूशन निलेगा।

      Reply
  4. My account is NPA on01062019 its valid for ots scheem
    So plz send me detail
    My bnk is cooprative

    Reply
  5. Sir good afternoon
    Sir m ne shop par limit karwa rakhi h sixty lacy ki
    Mera account npa ho gaya m ne do bar 280000 or 400000 ki payment kar bi di
    Ab bhol rahe h payment karo ab hum shop ki position lege
    M kuch time or mang raha hu
    wo mana kar rahe h ab mere pass kaya option h

    Reply
    • bank se ap settlement ke liye bhi baat kar sakte hai. aur apni baat ke liye bank se request bhi kar sakte hai.

      Reply
  6. Hello
    Maine national bank se loan liya tha vo repayment nahi kar paaya to OTS me mai payment karne ke baad mujhe national bank se loan mil sakta hai ya cibil par remark rahega.

    Reply
  7. meri car loan and credit card dono hdfc bank ke hain bank abhi dono recovery me hai case hum car ki puri payment karna chahte hain bt credit card ki wajah se noc nahi mil rahi car ki ab hum dono ek sath payment karna chahte hain bt hdfc credit card settlement wale koi response nahi de rahe itne sare calls and mail karne ke bawjood to kya hum RBI me complain kar sakte hain

    Reply
    • इसके लिए आप एचडीएफसी के हेड ऑफिस में शिकायत कर सकते है साथ ही आप आरबीआई को भी मेल कर सकते है

      Reply
  8. कोई मुझे लोन से बाहर आने का रास्ता बताएं

    Reply
  9. One time settlement karne ke bad dusri bank lone dega ya nahi???

    Reply
  10. One time settlement me bhi fraud kaam kar dete hai kya bank wale jaise ki settlement karne ke baad bhi paise mangte hai ky

    Reply
  11. Hello sir mere father ne pnb se loan liya tha 8 lakh ka or usme phir palti lgva di thi uske bad koi tranjctn ni Hui or father ki death ho gyi or ab payment 10,70,000 ho gya h to isme OTS mil skta h kya … Or Han aj Bank walo ka msg aya ki 30 Tak NPA ho jayega account

    Reply
  12. सर बैंक के एमप्लोय किस्त ले जाते थे ओर रसीद दे जाते थे लेकिन आगे बैंक में जमा नही करते थे ,तो क्या इस तरह के डिफ़ॉल्ट में ग्रंटर डिफ़ॉल्ट में आएगा ?

    Reply
    • हाँ लेकिन इसके लिए आप शिकायत कर सकते है जब आपके पास पैसे जमा करने के प्रूफ है तो।

      Reply

Leave a Comment