क्रेडिट कार्ड लोन न चुकाने पर क्या होता है?

वर्तमान समय में बहुत सारे लोगो के पास क्रेडिट कार्ड होता है जिसके पास नहीं है वो बैंक से लेने का प्रयास कर रहे है लेकिन सभी के मन में क्रेडिट कार्ड लोन न चुकाने पर क्या होता है. इसकी चिंता बनी रहती है और सोचते है की लोन न चुकाने पर जेल हो सकती है क्या ऐसा हो सकता है इन सभी प्रश्नो के उत्तर इस लेख में जानेगे।

अधिकतर व्यक्ति क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर रहे है बहुत सारे लोग कॅश लेकर चलना पसंद नहीं करते है ज्यादा कॅश लेकर चलना बहुत सारे लोग सुरक्षित नहीं समझते है इसलिए क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करते है इस कार्ड से कभी भी किसी को पेमेंट किया जाता है क्रेडिट कार्ड से खरीदारी की जा सकती है ऑनलाइन शॉपिंग कर सकते है ऑनलाइन EMI पर प्रोडक्ट खरीद सकते है।

क्रेडिट कार्ड का चलन धीरे धीरे बढ़ रहा है और भविष्य में क्रेडिट कार्ड यूजर की सख्या बढ़ने ही वाली है बहुत सारे लोगो को क्रेडिट कार्ड मिल ही नहीं पाता है उनका एक सपना बनकर रह जाता है कई व्यक्तियों के द्वारा क्रेडिट कार्ड मिलने पर भी इस्तेमाल नहीं किया जाता है बहुत सारे लोगो का कहना है की क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करने पर फिजूल के खर्चे बढ़ जाते है।

आज के समय में क्रेडिट कार्ड सभी बैंक और फाइनेंस कंपनियों के द्वारा उपभोक्ता को दी जाती है ताकि उपभोक्ता किसी समय क्रेडिट कार्ड से पैसे खर्च करके अपने ज़रूरतों को पूरा कर सके फिर कुछ समय बाद पैसे होने पर अकाउंट में जमा करना होता है लेकिन उपभोक्ता इस बात से डरे रहते है की क्रेडिट कार्ड के लोन को न चूका पाए तो क्या होगा इसकी जानकारी इस लेख में जानेगे।

क्रेडिट कार्ड लोन न चुकाने पर क्या होता है?

credit-card-loan-na-chukane-par-kya-hota-hai

जिस तरह किसी दूसरे लोन रकम की EMI न भर पाने पर उधारकर्ता को डिफ़ॉल्टर बना दिया जाता है उसी तरह क्रेडिट कार्ड के बिल न भरने पर डिफ़ॉल्टर बना दिया जाता है वही क्रेडिट कार्ड बिल पेमेंट अधिक बार मिस करने पर यूजर को जेल और कोर्ट के चक्कर भी लगाने पड़ सकते है इसलिए सही समय पर क्रेडिट कार्ड का बिल भुगतान करना ज़रूरी है।

जब क्रेडिट कार्ड यूजर के द्वारा किसी कारणवश या जानबूझकर क्रेडिट कार्ड की न्यूनतम अकाउंट लगातार छः महीने नहीं चूका जाता है तो उसे डिफ़ॉल्टर लिस्ट में डाल दिया जाता है फिर उसके अकाउंट से लिंक क्रेडिट कार्ड को डीएक्टिवेट कर दिया जाता है इस स्थिति में बैंक के द्वारा यूजर के खिलाफ कार्यवाही भी की जा सकती है। जोकि बैंक के पास इसका अधिकार होता है यूजर के पास भी कुछ अधिकार होते है उसका वो इस्तेमाल कर सकता है।

कोरोना महामारी के चलते है बहुत सारे क्रेडिट कार्ड यूजर न्यूनतम अमाउंट भी नहीं चूका पाए है इस वजह से क्रेडिट कार्ड कम्पनियो के द्वारा यूजर के साथ अभद्र व्यवहार किया गया है इन हालातो में क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने वालो को अपने अधिकार पता होना ज़रूरी है जोकि मैं आपको बताता हूँ।

क्रेडिट कार्ड का बिल समय पर न भरने पर बैंक सबसे पहले यूजर को डिफॉल्टर घोषित करता है उसके बाद बैंक के द्वारा जारी क्रेडिट कार्ड को पूरी तरह से ब्लॉक किया जाता है उसके बाद यूजर उसे इस्तेमाल नहीं कर सकता है इस स्थिति में बैंक यूजर के खिलाफ कार्यवाई भी कर सकता है जोकि बैंक के पास इसका अधिकार होता है रिकवरी एजेंट को यूजर के घर भी भेजा जा सकता है ऐसी स्थिति में ग्राहक का क्रेडिट स्कोर ख़राब हो जाता है और भविष्य में लोन मिलने के चांस कम हो जाते है।

इसे भी पढ़े..

क्रेडिट कार्ड का भुगतान कैसे करें?

अब बात करते है की ग्राहक के पास कौन से अधिकार होते है स्थिति ख़राब होने पर ग्राहक के द्वारा कई बार क्रेडिट कार्ड का बिल नहीं चुकाया जा सकता है आर्थिक स्थिति ठीक न होने पर नौकरी छूट जाने पर व्यवसाय बंद हो जाने पर या कोई अन्य आर्थिक स्थिति ख़राब होने पर ग्राहक क्रेडिट कार्ड का भुकतान नहीं कर पाता है।

ग्राहक अपने बचाव के लिए सबसे पहले मिनिमम ड्यू का अमाउंट चुकाए यदि ऐसी स्थिति में इतना भी पैसा नहीं है की मिनियम ड्यू का भुगतान कर सके तब ग्राहक क्रेडिट कार्ड कस्टमर केयर से बात करके भुगतान के लिए टाइम ले सकता है या अन्य विकल्प के लिए बात कर सकता है समय मिलने पर ग्राहक को कही से पैसो की व्यवस्था करके भुगतान कर देना चाहिए।

इसके बावजूद भी ग्राहक क्रेडिट कार्ड का भुगतान नहीं कर सकता है तो बैंक ग्राहक के ऊपर कानूनी कार्रवाही कर सकता है लेकिन हाँ कोई भी अधिकारी ग्राहक के साथ बदसलूकी नहीं कर सकता अभद्र व्यवहार नहीं कर सकता है रिकवरी एजेंट ग्राहक के घर भेजा जा सकता है लेकिन उन अधिकारियो के पास सिर्फ इतना अधिकार रहता है की ग्राहक से लोन चुकाने के लिए बोल सकते है इसके अलावा किसी अन्य प्रकार का व्यवहार नहीं कर सकते है यदि इसके अतिरिक्त कोई अधिकारी अभद्र व्यवहार बदसलूकी करे तो उसके खिलाफ ग्राहक भी कार्यवाही कर सकता है।

लोन न चुकाने पर जेल हो सकती है।

बहुत सारे उधारकर्ता के मन ये प्रश्न आता है की लोन रकम न चुकाने पर जेल हो सकती है इसका जवाब हाँ है ये बैंक और ग्राहक के बीच का मामला कितने हद तक जा सकता है बैंक और ग्राहक के व्यवहार के ऊपर निर्भर करता है लेकिन लोन न चुकाने पर कोर्ट के चक्कर और जेल की हवा खानी पड़ सकती है।

इसलिए ऋण उतना लिया जाये जितना चुकाया जा सके ताकि ऐसी स्थिति कभी किसी के सामने न आये की कोर्ट कचेहरी के चक्कर लगाने पड़े उतना ही लोन रकम बैंक से या ऋण देनी वाली संस्था से लिया जाये जितना जल्दी से जल्दी आसानी से चुकाया जा सके।

इस लेख में हम लोगो ने जाना है की क्रेडिट कार्ड लोन न चुकाने पर क्या होता है. क्या ग्राहक के अधिकार है क्या बैंक के अधिकार है इसके अलावा भी क्रेडिट कार्ड बिल भुगतान समय पर न करने पर क्या हो सकता है इसकी जानकारी इस लेख में दी गयी है ऐसी ही जानकारी के लिए इस ब्लॉग पर कई और आर्टिकल पब्लिश है उसे आप पढ़ सकते है और अधिक जानकारी प्राप्त कर सकते है।

आर्टिकल से जुडा आपके मन में कोई प्रश्न है जिसका आपको उत्तर जानना है तो आप कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है उसका उत्तर आपको अवश्य दिया जायेगा यह लेख पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पर शेयर करना न भूले।

Leave a Comment